Saturday, October 16, 2021

महिलाएं हड्डियों के दर्द को न लें हल्के में, कहीं ओस्टियोपोरोसिस तो नहीं

osteoporosis ka karan

बदलते लाइफस्टाइल और खानपान में लापरवाही के कारण कमजोर हो रही हड्डियां एक समय के बाद परेशानी पैदा करने लगती हैं। डॉक्टर्स के अनुसार दो सालों में भारत में ओस्टियोपोरोसिस के रोगियों की संख्या लगभग 360 लाख हो जाएगी। आमतौर पर 83 प्रतिशत स्पाइनल फ्रैक्चर की वजह ओस्टियोपोरोसिस है।

क्या है ओस्टियोपोरोसिस :  ओस्टियोपोरोसिस एक प्रकार की बीमारी है, जिसमें हड्डियां काफी कमजोर हो जाती हैं और उनमें फ्रैक्चर होने की संभावना बढ़ जाती है। इसमें हड्डियों में सिकुड़न और अस्थिमज्जा की मात्रा में कमी आ जाती है। यही वजह है कि हड्डियां काफी कमजोर हो जाती हैं और उनमें फ्रैक्चर की समस्या बढ़ जाती है। गौर करने वाली बात है कि इस बीमारी का प्रभाव कुल्हे, रीढ़ की हड्डी और कलाई की हड्डियों पर सबसे ज्यादा होता है।

ये हैं लक्षण :

  • अचानक से बैक पेन
  • बैक पेन में आगे-पीछे मुड़ने में तकलीफ
  • हड्डियों में हमेशा दर्द रहता हो
  • शरीर के वजन में कमी आना
  • लंबाई में कमी आ जाना

इन कारणों से होती है समस्या :

  • शरीर में विटामिन डी और कैल्शियम की कमी से हड्डियां कमजोर हो जाती है और इसी वजह से हड्डियों में फ्रैक्चर होते हैं।
  • कम एक्सरसाइज करना और अधिक दिनों तक बेड रेस्ट करने से भी ओस्टियोपोरोसिस हो सकता है।
  • अधिक ऐल्कॉहॉल का सेवन करना और सिगरेट अधिक पीना हड्डियों में फ्रैक्चर की आशंका बढ़ा देता है।
  • धूप से दूर रहने से भी विटामिन डी की कमी हो सकती है।

यह है इलाज :

  • विटामिन डी और कैल्शियम युक्त खाना खाएं
  • डॉक्टरों की बताई गई बोनफ्रैंडली एक्सरसाइज नियमित रूप से करें
  • वर्टिब्रल फ्रैक्चर में पीठ की मांसपेशियों को मजबूत करने वाली एक्सरसाइज करें
  • फिजियोथेरपी में जो मरीज मेडिकल थेरपी से बचना चाहते हैं, वो बलून केफोप्लास्टी जैसी विधि अपना सकते हैं। लेकिन यह ध्यान रखें कि स्पाइनल डिसऑर्डर होने पर न्यूरो या स्पाइन के डॉक्टर से भी मिलें।

खास बातें :

  • ओस्टियोपोरोसिस की बीमारी पुरुषों की तुलना में महिलाओं में अधिक होती है
  • कम लंबी और दुबली महिलाओं में हड्डियों में फ्रैक्चर होने का खतरा अधिक होता है
  • परिवार के किसी सदस्य में अगर यह समस्या रही है तो अन्य सदस्यों में भी ओस्टियोपोरोसिस होने की आशंका रहती है
  • कुछ दवाइयां ओस्टियोपोरोसिस को बढ़ा देती हैं, इसलिए डॉक्टरी सलाह के बिना कोई दवा न खाएं
Total Views : 1,188 views | Print This Post Print This Post

About कुमार आशु

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

BIGTheme.net • Free Website Templates - Downlaod Full Themes