Saturday, July 31, 2021

मेथी का काढ़ा

fenugreekसबसे पहले तो मेथी का काढ़ा बनाने की विधी की बात करते है । मेथी का काढ़ा बनाने की विधी बिल्कुल ऐसी है जैसे कि अन्य अधिकतर काढ़े बनाने की होती है । 5-7 ग्राम मेथी दाना लेकर उसको 250 ग्राम ताजे पानी में मिलाकर आग पर पकायें जब उबलते उबलते पानी 150 ग्राम शेष रहे तो उतारकर छान लें और पीने लायक ठण्डा होने दें । वैसे इस काढ़े को जितना गर्म पिया जा सके उतना गर्म ही चाय की तरह घूँट घूँट कर पीना चाहिये । कुछ लोगों को इस काढ़े का कड़वा स्वाद कुछ भाता नही है । ऐसे लोग इस काढ़े में थोड़ा शहद मिलाकर पी सकते हैं । यह काढ़ा दिन में एक बार पीना ही पर्याप्त होता है ।

अब बात करते हैं इस काढ़े से मिलने वाले स्वास्थय लाभों के बारे में । इस काढ़े से बहुत से स्वास्थय लाभ मिलते हैं जिनका एक छोटा सा वर्णन निम्नवत है :-

1 :- बलगम वाली खाँसी में और सीने में दर्द की परेशानी में इस काढ़े को हल्का गर्म और थोड़ा शहद मिलाकर पीना चाहिये । ध्यान रखें कि तेज गर्म काढ़े में शहद नही मिलाना है ।

2 :- जिन लोगों को ऑवयुक्त शौच होता है उनके लिये यह काढ़ा विशेष रूप से उपयोगी होता है क्योकि मेथी दाने में ऑवनाशक गुण विशेष रूप से पाये जाते हैं और काढ़ा बनाने के बाद यह प्रभाव बहुत बढ़ जाता है ।

3 :- मधुमेह के रोगियों के लिये मेथी के लाभ आज किसी से छिपे नही रहे हैं । मधुमेह के रोगियों की ऑतें भी धीरे धीरे कमजोर होने लगती हैं । ऐसी अवस्था में यह काढ़ा मधुमेह को भी कम करता है और ऑतों की ताकत भी बढ़ाता है।

4 :- मेथी के काढ़े में वात रोगों को खत्म करने की शक्ति पैदा हो जाती है । वात के रोगों जैसे कि जोड़ो का दर्द और साँस फूलना जैसी समस्याओं में यह बहुत उत्तम लाभ देता है ।

5 :- मेथी के काढ़े का सेवन करने से खून में हिमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ती है अतः जिन लोगों में खून की कमी होती है उन लोगों को यह काढ़ा विशेष रूप से देना चाहिये

Total Views : 714 views | Print This Post Print This Post

About ashuj1

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

BIGTheme.net • Free Website Templates - Downlaod Full Themes