Tuesday, June 22, 2021

सर्विस प्रोवाइडर के रूप में क्लाउड कंप्यूटिंग

Cloud Computingक्लाउड कंप्यूटिंग आज के समय में बिजनेस के क्षेत्र में बड़ी-बड़ी कॉरपोरेट कम्पनियों के लिए एक महत्वपूर्ण डेटा रिसोर्स प्रोवाइडर के रूप में काम कर रहा है। इसे कंप्यूटर का अलंकार मेटाफर कहा जाता है। क्लाउड का अर्थ यहां पर इन्टरनेट की एक ऐसी सुविधा से है जो कंप्यूटर के विशाल नेटवर्क की मदद से दूर बैठे किसी सेलफोन, लैपटॉप या फिर डेस्कटॉप से अवश्य रूप से सूचनाएं प्राप्त हो सकती हैं। यह एक ऐसी नेटवर्किंग सेवा है जिससे सूचना प्रौद्योगिकी से सम्बन्धित क्षमताएं सेवा के रूप में उपलब्ध करायी जाती है। ऑनलाइन डेटा शेयरिंग से लेकर स्टोरिंग की नेटवर्किंग सेवा ने क्लाउड कंप्यूटिंग को एक फास्ट प्लेटफार्म के रूप में बदल दिया है जिसके कारण डेटा प्रोसेसिंग और डेटा स्टोरिंग की स्पीड बड़ी तेजी हो गयी है। इस अति आधुनिक नेटवर्किंग सेवा के द्वारा शैक्षिक संगठनों के साथ ही इंटरप्राइजेज अपने क्लाइंटस को उन सेवाओं को उपलब्ध करा पायेंगे जिनके उपभोक्ता को जरूरत होती है।

आईबीएम ने भारत में क्लाउड कंप्यूटिंग सर्विस के विकास में एक सौ करोड़ डॉलर का निवेश कर 200 रिसर्चर की सेवा ली है। वर्तमान में आईबीएम के छोटे बड़े लगभग एक हजार से अधिक कमर्शियल क्लाइंटस हैं जिन्हें उत्पाद और सेवा उपलब्ध की जा रही है जिनकी वे मांग करते हैं। यह डिमांड पर कंप्यूटिंग रिसोर्सेज प्रदान करता है। इसे इनफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी का आउटसोर्सिंग भी कहते हैं। इसके अंतर्गत आप अपने डाटा या प्रोग्राम को इन्टरनेट पर एक्सेस कर सकते हैं या फिर उस डाटा को नेट पर अन्य इन्फार्मेशन के साथ जोड़ भी सकते हैं। इसका यह अर्थ है कि क्लाउड कंप्यूटिंग के माध्यम से डाटा और प्रोग्राम को अपने कंप्यूटर के हार्डवेयर की बजाय इंटरनेट पर स्टोर और एक्सेस कर सकते हैं। यह नेटवर्किंग सेवा डिमांड पर मिनट या फिर घंटे के आधार पर बेची जाती है। क्लाउड कंप्यूटिंग की सर्विस पाने के लिए उपभोक्ता के पास एक पर्सनल कंप्यूटर और इंटरनेट कनेक्शन होना चाहिए। इसके माध्यम से बिना इंफ्रास्ट्रक्चर के आप डेटा स्टोरेज डाउनलोड की स्पीड को बढ़ा सकते हैं। यह सब्सक्रिप्शन या पे टू यूज के आधार पर काम करता है। अब अधिकांश कंपनियां अपने सेल तथा टर्नओवर बढ़ाने के लिए डेटा बेस मैनेजर, इंजीनियर और स्ट्रेटेजीस्ट की अधिक संख्या में मांग करने लगे हैं। जिसके फलस्वरूप इस क्षेत्र में रोजगार के नए अवसरों में काफी वृद्धि की संभावना है।

लेकिन इस नकनीक में अच्छाइयों के साथ कुछ दोष भी हैं ः-

  1. क्लाउड कंप्यूटिंग ने आपके कारोबार को इंटरनेट कनेक्शन पर निर्भर बना दिया है। इंटरनेट जब ऑफलाइन हो जाता है, तो आप भी ऑफलाइन हो जाते हैं। यदि इसकी रफ्तार कम हो जाती है तो आपका काम धीमा हो जाता है।
  2. क्लाउड कंप्यूटिंग का अर्थ इंटरनेट कंप्यूटिंग से है इसलिए आप जो भी आंकड़े उस पर रखते हैं वह कितना सुरक्षित है यह सवालों के घेरे में है। हैकिंग कर उन सुचनाओं की चोरी भी की जा सकती है।

 

Total Views : 2,315 views | Print This Post Print This Post

About गौरव कुमार

5 comments

  1. very good knowledge about cloud computing.

  2. very good knowledge about cloud computing,
    and service provider.

  3. very good. I like this.

  4. Thanks
    Very Nice Gaurav jee

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

BIGTheme.net • Free Website Templates - Downlaod Full Themes